Best love stories in English, Hindi, Gujarati and Marathi Language

खट्टी मीठी यादों का मेला - 23 - लास्ट पार्ट
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 8

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 22
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 15

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 21
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 26

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 20
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 19

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 19
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 7

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 18
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 7

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

कमसिन - 33 - लास्ट
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 7

पिंकी और बिट्टू जो मैन्यू कार्ड में खाने की चीजें देख रहे थे वे एकदम से उसकी तरफ देखने लगे, कौन रवि? राशि का ध्यान अभी भी बाहर की तरफ ...

कमसिन - 32
by Seema Saxena verified
  • (1)
  • 10

पिंकी ने आज घर में बताया था कि वह कालेज की तरफ से टूर पर जायेगी ! आगरा, दिल्ली और मथुरा ले जाया जा रहा है ! ताजमहल, लाल ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 17
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 1

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

कमसिन - 31
by Seema Saxena verified
  • (1)
  • 3

आज कल गाँव में भी सभी लोग बारी बारी से अपने घर में देवता को घर ला रहे थे। आज चाचा के घर पर देवता आ रहे थे पूरा ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 16
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 8

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

कमसिन - 30
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 1

आज पूरे तीन महीने के बाद रवि के अलावा भी कोई उसके दिलो दिमाग पर छाया था अन्यथा उसे सिर्फ रवि की छवि, उसकी बातें, उसकी यादें ही किसी ...

कमसिन - 29
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 4

हर बात वो उनसे ही तो कह लेती थी इसीलिए आज माँ से ज्यादा भाभी की याद आ रही थी ! जो उसकी अपनी होकर भी अपनों से ज्यादा ...

मन्नू की वह एक रात - 26 - लास्ट पार्ट
by Pradeep Shrivastava
  • (0)
  • 4

‘जब मैंने अंदर देखा तो जो कुछ दिखा अंदर उससे मैं एकदम गड्मड् हो गई। सीडी प्लेयर चल रहा था। एक बेहद उत्तेजक ब्लू फ़िल्म चल रही थी। और ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 15
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 4

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

कमसिन - 28
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 1

राशी के पेपर हो चुके थे वह अब ज्यादातर समय उसके साथ ही बिताती ! घर में काकी माँ, माँ, राजीव और पापा जी भी बहुत ध्यान रखने लगे ...

मन्नू की वह एक रात - 25
by Pradeep Shrivastava
  • (0)
  • 3

'‘मैं ऐसी लड़की से ही शादी कर सकता हूं जो मेरे सामने जब आए तो मुझे ऐसा अहसास हो कि सामने तुम खड़ी हो। क्योंकि तुम्हारी जैसी जो होगी ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 14
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 8

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

कमसिन - 27
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 1

सुबह हो गयी थी ! आज कल्पना को उठने की इच्छा नहीं हो रही थी ! वह ऐसे ही लेटी रहना चाहती थी लेकिन माँ की पूजा और उनकी ...

मन्नू की वह एक रात - 24
by Pradeep Shrivastava
  • (0)
  • 0

मेरी यह दलील सुन कर चीनू एक बार फिर भड़क गया। बोला, '‘शादी-शादी-शादी, दिमाग खराब हो गया है तुम्हारा। तुम असल में मेरी शादी नहीं बल्कि अब मुझ से भी ...

સંગ રહે સાજનનો - 28 (સંપૂર્ણ )
by Dr Riddhi Mehta verified
  • (0)
  • 12

એક દિવસ વિરાટના ઘરે બધા નાસ્તો કરીને બેઠા હોય છે. વિશાખા અંદર તેના રૂમમાં કંઈ કામ કરતી હોય છે. ત્યાં પ્રેમલતા પણ તેને મદદ કરાવતી હોય છે. કારણકે આજ ...

कमसिन - 26
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 4

कल्पना ने सोचा उसने ऐसा क्या कर दिया जो राजीव इतना नाराज हो गया और अभी पूजा में तल्लीन थी पापा टी0वी0 में तो उसने सोचा थोड़ी देर छत ...

मन्नू की वह एक रात - 23
by Pradeep Shrivastava
  • (0)
  • 1

‘यह क्या फालतू बात कर रहे हो। मुझ बुढ़िया से शादी करोगे।’ इस पर वह बोला, ‘फालतू बात नहीं कर रहा हूं, जो कह रहा हूं सच कह रहा हूं। इतना ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 13
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 1

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

कमसिन - 25
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 1

राजीव आ गये थे । कल्पना ने उनको चाय नाश्ता दिया ओर वहीं शान्त मन से बैठ गई । राजीव ने उसे देखकर मुस्कुराया किन्तु वह शान्त ही रही ...

मन्नू की वह एक रात - 22
by Pradeep Shrivastava
  • (0)
  • 2

‘मगर बच्चा गोद लेकर संतान वाली तो हो ही गई थी। और आगे का भविष्य क्या है यह भी जान गई थी। मैं ऐसा नहीं कह रही कि तुम ...

સંગ રહે સાજનનો -27
by Dr Riddhi Mehta verified
  • (0)
  • 1

વિશાખા આજે બહુ ખુશ છે.તેના મમ્મી આજે તેના લગ્ન પછી બીજી વાર અહીં આવી રહ્યા છે અને પાછા એ પણ તેની સાથે રહેવા. વિરાટે કહ્યું હતું કે તે સાજે ...

સંગ રહે સાજનનો -26
by Dr Riddhi Mehta verified
  • (0)
  • 2

વિશાખા પર  તેની મમ્મીનો ફોન આવે છે અને તે કહે છે, બેટા હુ કાલે ત્યાં બોમ્બે આવુ છું તારી પાસે .તારી તબિયત સારી નથી તો. વિશાખા : (ખુશ થઈને) ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 12
by Rashmi Ravija verified
  • (0)
  • 1

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

कमसिन - 24
by Seema Saxena verified
  • (0)
  • 26

वह राजीव के साथ अपने घर आ गई थी पर अब वो अपना घर नहीं रहा था मायका था और सच में यही महसूस भी किया, जहाँ बचपन बीता, ...