maana ki andhera ghana hai per kya ek diya jalaana bhi mana hai

*अपनी फतेह पर अगर गरूर आने लगे तो,*

*चुपके से मिट्टी से पूछ लेना, आजकल सिकन्दर कहाँ है...

रवि कुमार भट्ट

Read More

मेरे कंधे पर बैठा मेरा बेटा जब मेरे कंधे पे खड़ा हो गया
मुझी से कहने लगा "देखो पापा में तुमसे बड़ा हो गया"


मैंने कहा "बेटा इस खूबसूरत ग़लतफहमी में भले ही जकडे रहना
मगर मेरा हाथ पकडे रखना"


"जिस दिन येह हाथ छूट जाएगा
बेटा तेरा रंगीन सपना भी टूट जाएगा"


"दुनिया वास्तव में उतनी हसीन नही है
देख तेरे पांव तले अभी जमीं नही है"


"में तो बाप हूँ बेटा बहुत खुश हो जाऊंगा
जिस दिन तू वास्तव में मुझसे बड़ा हो जाएगा

मगर बेटे कंधे पे नही ...
जब तू जमीन पे खड़ा हो जाएगा!!


ये बाप तुझे अपना सब कुछ दे जाएगा !
तेरे कंधे पर दुनिया से चला जाएगा !!

Read More

बेटियाँ

ये घर तेरा नहीं है
पति का घर ही है तेरा घर
कहकर ये
बेटियों को पराया कर देते है हम

चली जा अपने पिता के घर
ये घर तेरा नहीं
बोलकर सात फेरे भूल जाते है हम

अकेले घर से बाहर नहीं जाना
लड़की समझ कर
अबला बना देते है हम

इसके बस की नहीं है आखिर
लड़की ही तो है
क्या कर पायेगी
जानकर कमज़ोर बना देते है हम

कैसे बन पायेगी बेटियाँ
हिम्मत वाली
उनकी हिम्मत तो खुद तोड़ देते है हम!!

Read More