Hey, I am reading on Matrubharti!

story mirror monthly report - November 2019

*करता नही है कोई कद्र यहाँ किसी के अहसासों की...*

*हर किसी को फिक्र है बस मतलब के ताल्लुक़ातो की....!!

રમત સંગીત ખુરશી ની,

આજ પણ ચાલે છે,

સત્તા પામવા માટે,
સોદા પણ થાય છે,

લાચાર પ્રજા , નિર્દોષ પ્રજા,

બસ દેખતા જ જાય છે,

Read More

'आज हम जो भी हैं वह हमारे अतीत के विचारों का परिणाम है।'

एक विनम्र अनुरोध " सुरक्षा चक्र"

सुविचार

ज़िन्दगी अध्यापक से ज्यादा सख्त होती है,
अध्यापक सबक देकर इम्तेहान लेता है,
और ज़िन्दगी इम्तेहान लेकर सबक देती है !!

Read More

☘ सुविचार ☘

शांति और संतोष ही पूर्णविराम हैं,
बाकी सभी सुख तो अल्पविराम हैं ।

*जोकर से पूछा गया सवाल कि*
*" चेहरे पे मास्क क्यो लगाते हो... "*
*क्या खूब जवाब था उसका:*
*" लगाते तो सब है.....*
*बस मेरा नजर आता है।

Read More